जीवन वृत

 

 


डॉक्टर योगेश चावला ने अपनी एम.बी.बी.एस. और एम.डी. (चिकित्सा) मध्य प्रदेश में जबलपुर विश्व विद्यालय से की। उन्होने उदरअंत्र विज्ञान में डी. एम. की डिग्री सर्व भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली से की।  उन्होने उच्चस्नातकोतर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग, चंडीगढ़ यकृत विज्ञान में शिक्षक के तौर पर अक्तूबर 1983 में पदभार ग्रहण किया, नवम्बर 1995 में यकृतविज्ञान विभाग के अध्यक्ष और 1999 में प्राध्यापक एवं विभागाध्यक्ष बने। उन्होने 7 अक्तूबर 2011 को संस्थान के निदेशक का पदभार ग्रहण किया।